Godzilla: King of the Monsters (2019) Dual Audio [Hindi-Cleaned] 720p HC HDRip Free Download


Facebook vs Facebook Lite in Hindi. Facebook or Facebook Lite me kya Antar hai? फेसबुक और फेसबुक लाइट में क्या अंतर है? Difference between Facebook and Facebook Lite in Hindi. Facebook and Facebook Lite difference in Hindi.

Facebook vs Facebook Lite in Hindi:

हर कोई इतना भाग्यशाली नहीं होता कि उसके पास हाई-स्पीड इंटरनेट कनेक्शन हो और 3 या 4 GB RAM वाला मोबाइल फोन हो| बहुत से लोग अभी तक भी अपने मोबाइल फोन में 2G नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं और उनके मोबाइल की RAM 2GB से ज्यादा नहीं होती|
इसी बात को ध्यान में रखते हुए Facebook ने अपने विश्व-प्रसिद्ध सोशल मीडिया एप्लीकेशन का नया हल्का वर्जन साल 2015 में लांच किया था जिसे 'Facebook Lite' के नाम से जाना जाता है|
इस ऐप को खासतौर से लो-स्पीड इंटरनेट डाटा कनेक्शन और लो-स्पीड या हल्के प्रोसेसर/रैम वाले मोबाइल फोन के लिए डिज़ाइन किया गया है
पूरी दुनिया में सिर्फ Facebook ही ऐसी कंपनी नहीं है जिसने अपने प्रोडक्ट का लाइट वर्जन लॉन्च किया हो फेसबुक के अलावा कई बड़ी-बड़ी कंपनियों जैसे कि Twitter, LinkedIn, Google आदि ने भी अपने मोबाइल ऐप्स का लाइट वर्जन लॉन्च किया है|

Difference between Facebook and Facebook Lite in Hindi:

Facebook की बात की जाए तो Facebook ने ना सिर्फ अपने सोशल मीडिया एप्लीकेशन का Lite वर्जन लॉन्च किया बल्कि चेटिंग एप मेसेंजर का भी Lite वर्जन लॉन्च कर चुका है|
Facebook के Lite वर्जन को साल 2015 में सिर्फ कुछ गिने-चुने देशों जैसे कि भारत, बांग्लादेश, श्रीलंका, पाकिस्तान आदि के लिए ही लॉन्च किया गया था लेकिन बाद में Facebook ने इस Lite वर्जन को कई सारे विकसित देशों जैसे कि अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन आदि के लिए भी लॉन्च कर दिया|

Difference between Facebook and Facebook Lite in Hindi:

तुलनात्मक-सारणी की मदद से पता करते हैं कि Facebook के स्टैण्डर्ड वर्जन और Facebook Lite में क्या अंतर है|

Comparison Chart:

तुलना का आधार
फेसबुक (Facebook Standard)
लाइट (Facebook Lite)
रिलीज़ डेट (Release Date)
19 अक्टूबर 2011
28 जून 2015
डाउनलोड साइज़ (Download Size in MB)
55 से 60 MB
1 से 2 MB
कुल डाउनलोड (जुलाई, 2018)
1,00,00,00,000+ (1 बिलियन से भी ज्यादा)
50,00,00,000+ (500 मिलियन से भी ज्यादा)
यूजर रेटिंग (जुलाई, 2018)
4.1 (7,79,56,214 यूजर के द्वारा)
4.3 (85,31,022 यूजर के द्वारा)
किसके लिए डिजाईन की गई? (Designed for)
सामान्य एवं अच्छे हार्डवेयर कन्फ़िगरेशन और हाई-स्पीड इन्टरनेट कनेक्शन वाले मोबाइल के लिए
आउटडेटेड हार्डवेयर कन्फ़िगरेशन और लो-स्पीड इन्टरनेट कनेक्शन वाले मोबाइल के लिए
रैम का उपयोग (RAM used)
अधिक फीचर्स होने की वजह से 200 से लेकर 300 MB रैम का उपयोग करती है
कम फीचर्स होने की वजह से 50 से लेकर 150 MB रैम का उपयोग करती है
मोबाइल इन्टरनेट डाटा का उपयोग (Data Usage)
अधिक मोबाइल इन्टरनेट डाटा का उपयोग करती है
बहुत कम मोबाइल इन्टरनेट डाटा का उपयोग करती है
यूजर इंटरफ़ेस (User Interface)
अधिक अच्छा
कम अच्छा
चैटिंग (Chatting)
उपलब्ध नहीं है
उपलब्ध है
मल्टीमीडिया (Multimedia)
Videos अपने आप चलने लगते है
इसमें विडियो नहीं चलते है
स्पीड (Speed)
लाइट वर्जन के मुकाबले धीरे (Slow) चलती है
तेज़ चलती है
अलर्ट और पॉप-अप (Alerts and Pop-ups)
अलर्ट और पॉप-अप असानी से चलते है
सपोर्ट नहीं करती
बैटरी का उपयोग (Battery Usage)
अधिक बैटरी पॉवर का उपयोग होता है|
बहुत कम बैटरी पॉवर का उपयोग होता है|
ऑटो रिफ्रेश (Auto Refresh)
उपलब्ध है
उपलब्ध नहीं है
ईमोजी (Emoji)
सपोर्ट करती है  
सपोर्ट नहीं करती है
नोट: ऊपर दी गई तुलनात्मक-सारणी केवल Facebook की Android एप्लीकेशन को ध्यान में रखते हुए तैयार की गई है जबकि इसके कुछ आंकड़े गूगल के प्ले-स्टोर से लिए गए हैं| 

Facebook vs Facebook Lite in Hindi:

  1. Facebook का स्टैंडर्ड एप्लिकेशन 19 अक्टूबर 2011 को लांच हुआ था जबकि Lite वर्जन 28 जून 2015 को लॉन्च किया गया|
  2. डाउनलोड साइज की बात करें तो दोनों एप्लीकेशन के बीच रात-दिन का अंतर है अगर आप Google Play Store से इन दोनों एप्लीकेशंस को डाउनलोड करते हैं तो स्टैंडर्ड Facebook एप्लीकेशन के लिए 55 से 60 MB तथा Lite एप्लीकेशन के लिए केवल 1 से 2 MB इंटरनेट डाटा खर्च होगा|
  3. Google Play Store पर दिए आंकड़ों के अनुसार जुलाई 2018 तक Facebook के स्टैंडर्ड वर्जन को 1 बिलियन तथा Lite वर्जन को 500 मिलियन से भी ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है|
  4. यूजर रेटिंग और फीडबैक की बात करें तो Google Play Store पर Facebook के स्टैंडर्ड वर्जन को 7,79,56,214 यूजर के द्वारा 4.1 रेटिंग दी गई है जबकि Facebook की Lite वर्जन को 85,31,022 यूजर के द्वारा 4.3 रेटिंग मिली है|
  5. Facebook के स्टैंडर्ड एप्लीकेशन को हाई-स्पीड इंटरनेट डाटा वाले मोबाइल फोन के लिए डिजाइन किया गया है जबकि Facebook की लाइट वर्जन को लो-स्पीड इंटरनेट डाटा के लिए डिजाइन किया गया है जो 2G नेटवर्क पर भी आसानी से चलती है|
  6. Facebook के स्टैंड एप्लीकेशन को आसानी से चलाने के लिए आपको 3 से 4GB रैम और अच्छे प्रोसेसर वाले मोबाइल फोन की जरूरत होती है क्योंकि लो कॉन्फ़िगरेशन वाले मोबाइल पर यह एप्लीकेशन काफी धीरे काम करती है| जबकि Facebook के लाइट वर्जन को लो कॉन्फ़िगरेशन वाले मोबाइल फोन के लिए ही डिज़ाइन किया गया है जिनमें 500 KB से लेकर 2GB तक रैम होती है|
  7. RAM के उपयोग की बात करें तो अधिक फीचर्स और स्मूथ यूजर इंटरफेस बनाने के लिए Facebook की स्टैंडर्ड एप्लीकेशन मोबाइल RAM का लगभग 200 से 300 एमबी उपयोग करती है| जबकी Facebook की Lite एप्लीकेशन केवल 50 से 150 MB RAM का ही उपयोग करती है|
  8. Facebook की स्टैंडर्ड एप्लीकेशन हाई-क्वालिटी इमेज, विडियो और अधिक फीचर्स होने की वजह से बैकग्राउंड में अधिक मोबाइल इंटरनेट डेटा का उपयोग करती है जबकि Facebook Lite वर्जन बहुत ही कम इंटरनेट डेटा का उपयोग करता है|
  9. Facebook के Lite वर्जन की अपेक्षा स्टैंडर्ड वर्जन में काफी अच्छा यूजर इंटरफेस दिया गया है एप्लीकेशन के फोंट्स और आइकन भी Lite वर्जन की अपेक्षा अधिक बड़े और अच्छे लगते हैं|
  10. Facebook के Lite वर्जन में इनबिल्ट मैसेंजर का ऑप्शन दिया गया है जिसके द्वारा आप अपने दोस्तों के साथ चैटिंग का अनुभव पा सकते हैं जबकि Facebook के स्टैंडर्ड वर्जन में यह सुविधा नहीं है इसके लिए आपको अलग से Messenger एप्लीकेशन को डाउनलोड करना पड़ता है|
  11. Facebook के Lite वर्जन में स्टैंडर्ड वर्जन की तरह ऑटोमेटिकली वीडियोज नहीं चलते हैं| Lite वर्जन में वीडियो चलाने के लिए आपको दिए गए लिंक पर क्लिक करके वीडियो प्ले करना होगा| Lite वर्जन में बहुत कम डेटा का उपयोग होने की सबसे बड़ी वजह यही है|
  12. एप्लीकेशन की स्पीड की बात करें तो Lite वर्जन स्टैंडर्ड वर्जन से काफी तेज काम करता है|
  13. Facebook स्टैंडर्ड वर्जन नोटिफिकेशन, अलर्ट और पॉप-अप को सपोर्ट करता है जबकि Lite वर्जन में अलर्ट और पॉप-अप की सुविधा नहीं मिलती है|
  14. हैवी एप्लीकेशन होने की वजह से Facebook का स्टैंडर्ड वर्जन अधिक बैटरी पावर का उपयोग करता है| जबकि Lite वर्जन में स्टैंडर्ड वर्जन की अपेक्षा दो-तिहाई कम बैटरी पावर खर्च होता है|
  15. Facebook के स्टैंडर्ड एप्लीकेशन में आप कई प्रकार के इमोजी (emoji) का उपयोग कर सकते हैं जबकि Lite वर्जन में यह इमोजी (emoji) सामान्य टेक्स्ट की तरह दिखाई देते हैं यानी कि Lite वर्जन में इमोजी सपोर्ट नहीं किए जाते है|
  16. Facebook के स्टैंडर्ड एप्लीकेशन में आपको ऑटो-रिफ्रेश (Autorefresh) का ऑप्शन मिलता है जो थोड़ी-थोड़ी देर में एप्लीकेशन को रिफ्रेश करता रहता है जिससे कि नए डाटा एप्लीकेशन में लोड होते रहते हैं| जबकि Facebook के Lite वर्जन में आपको ऑटो रिफ्रेश का ऑप्शन नहीं मिलता है|
ये भी पढ़ें: 

उम्मीद है कि अब आपको Facebook और Facebook Lite में पूरी तरह से अंतर समझ में आ गया होगा (Difference between Facebook and Facebook Lite in Hindi). अगर फिर भी आपके मन में इस पोस्ट से संबंधित किसी चीज को लेकर शंका है तो आप नीचे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते हैअगर आपको यह  पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें|

No comments:

Post a Comment

Instagram